Cinema Gate

नये रंग में पर्दे पर लौट आया एंग्री यंगमैन जंजीर
janjir - Copy.jpg                            बॉलीवुड में आजकल  रीमेक का दौर चल रहा है इसी कड़ी में प्रकाश मेहरा  निर्देशित ‘जंजीर’ (1973) का रिमेक 40 वर्ष बाद बनाया गया है, फिल्म में दक्षिण भारतीय अभिनेता रामचरण तेजा, संजय दत्त , प्रियंका चौपड़ा , प्रकाश राज , अतुल कुलकर्णी माहि गिल जैसे दमदार कलाकार प्रमुख किरदारों में नजर आयेंगे वैसे तो मूल जंजीर में अमिताभ बच्चन द्वारा निभाया गया विजय का किरदार दक्षिण भारतीय फिल्मों के स्टार राम चरण तेजा ने निभाया है. फिल्म की कहानी यह है कि विजय  अंडरवर्ल्ड के गुंडों को सलाखों के पीछे डालना चाहता है और उसी दौरान उसके पास एक ऐसा मामला आता है जिसमें तेजा के गुंडों द्वारा की गई हत्या की एक चश्मदीद गवाह पुलिस की मदद करने से इंकार करती है. रिया को विजय इस बात के लिए राजी कर लेता है कि वो तेजा के खिलाफ अपना बयान दे जिसके कारण तेल माफिया तेजा किसी भी कीमत पर रिया की मौत चाहता है. उसकी सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए विजय अपने घर में उसे जगह देता है और फिर धीरे-धीरे विजय को महसूस होता है कि रिया उसकी जिंदगी का अहम हिस्सा बन गई है. उसी समय विजय की मुलाकात शेरखान से होती है जो कि शेरखान अवैध तरीके से कारों को खरीदने और बेचने का काम करता है. विजय की ईमानदारी से शेरखान बेहद प्रभावित होता है और अपने आपको बदल लेता है. वह विजय को अपना दोस्त बना लेता है और उसके लिए वह कुछ भी करने के लिए तैयार है. विजय अपनी खुद की लड़ाई भी लड़ रहा है. वह उस शख्स की तलाश कर रहा है जिसने उसके माता-पिता की हत्या की है जब वह छोटा था तब उसकी आंखों के सामने उसके मां-बाप की हत्या कर दी गई थी. ‘जंजीर’ की कहानी विजय के भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई, तेजा को पकड़ने की कोशिश और अपने माता-पिता के हत्यारों को ढूंढने के इर्दगिर्द घूमती है.