Parties and Events

रिवायवल के साथ श्रोता फिर से १९५० के मधुर संगीत के जमाने में पहुंचे”

 पिछले दिनों राजधानी दिल्ली के  चिन्मय मिशन आडिटोरियम में गीत--संगीत का एक बहुत ही खूबसूरत कार्यक्रम आयोजित हुआ जिसमें जानी मानी लोकप्रिय गायिका श्रीमती कनक चतुर्वेदी ने अपनी मधुर आवाज में कुछ पुराने गीतों को गाकर वहां उपस्थित श्रोताओं को फिर से एक बार उसी  पुराने ज़माने में पहुंचा दिया  जब जवां है मोहब्बत (नूरजहाँ ), अफसाना लिख रही हूँ  (उमा देवी), काहे   कोयल  शोर मचाए (शमशाद बेगम)  आज रंग है रे (अमीर खुसरो) जैसे गीतों को श्रोता  सुनते थे और सराहे थे.

पुराने समय के लोकप्रिय गीतों को गाकर कनक  चतुर्वेदी ने लोगों को झूमने पर मजबूर कर दिया. इस कार्यक्रम में भारत  के मुख्य चुनाव आयुक्त डा. एस वाई कुरैशी मुख्य अतिथि थे. इनके अलावा कैबिनेट सचिव श्री अजित सेठ और कई अन्य गणमान्य अतिथि भी उपस्थित थे. श्रोताओं से खचाखच भरे आडिटोरियम में उस समय समाँ और भी रंगीन हो गया जब  मनीषा दुबे जो की दिल्ली में एक जाना माना नाम हैं, ने अपनी शेरो शायरी से महफ़िल को रंग दिया. इस अवसर पर पाइन ट्री के गौतम चतुर्वेदी भी उपस्थित थे जिन्होंने अनेकों धारावाहिकों में अभिनय किया है जिनमें "कहानी घर घर की " मुख्य है.    

 पाइन ट्री पिक्चर्स द्वारा आयोजित  गीत--संगीत के इस  कार्यक्रम में “प्रेरणा”  जो कि आईएएस अधिकारीयों की  पत्नियों का  एक  एसोसिएशन है, को  गरीब बच्चों की शिक्षा के लिए  चेक भी दिया गया. इस अवसर प्रेरणा ने यह भी घोषणा की कि “जनवरी २०१२ में “रिवायवल” फिर से आएगा एक नए कार्यक्रम के साथ