Cinema Gate

क्या षडयंत्र तक पहुचेगा एजेंट विनोद !
      agent-vinod-film-028.jpg         'एक हसीना' और 'जॉनी गद्दार' जैसी थ्रिलर फिल्मो के निर्देशक श्रीराम  राघवन एक बार फिर सैफ अली खान की फिल्म 'एजेंट विनोद' से दर्शको को दांतों तले अंगुलिया दबाने को मजबूर करेंगे फिल्म में  सैफ अली खान, करीना कपूर, गुलशन ग्रोवर, प्रेम चोपड़ा, रवि किशन, अदिल हुसैन, मलिका हेडन, शाहबाज़ खान प्रमुख भूमिकाओ में नजर आयेंगे  इस फिल्म की कहानी सीक्रेट एजेंट विनोद के इर्दगिर्द घूमती है,  उसके पास कई जानकारियां हैं. पूरी दुनिया में कुछ ऐसी घटनाएं श्रृंखलाबद्ध तरीके से घटती है, जिनका आपस में कोई संबंध नहीं लगता है. उज्बेकिस्तान में एक्स केजीबी ऑफिसर को टॉर्चर करने के बाद मौत के घाट उतार दिया जाता है और केपटाउन में इस ऑफिसर की मौत के बारे बिज़नेस टॉयकून्स बात कर रहे हैं. उनका मानना है कि केजीबी ऑफिसर के पास न्यूक्लियर बम के सारे राज थे. मास्को में एक इंडियन सीक्रेट एजेंट का राज खुल जाता है और उसे गोली मार दी जाती है क्योंकि वह कोड मैसेज भारत भेज रहा था. भारत में रॉ के हेड के हाथ अधूरा मैसेज लगता है जिसमें 242 नंबर रहता है. एजेंट विनोद की एंट्री होती है. विनोद  के काम करने का अंदाज अलग है. विनोद कई बार खतरों से घिरा है. एजेंट विनोद को जांच के लिए मास्को भेजा जाता है क्योंक़ी उसके साथी को मारा गया था. एजेंट विनोद को पता चलता है कि अबू नजर नामक रूसी ने पचास मिलियन डॉलर की रकम मोरक्को भेजी ताकि भारतीय एजेंट को मारा जाए. विनोद मोरक्को जाता है जहां उसकी मुलाकात माफियाओ क़ी ज़ान और खूबसूरत लेकिन रहस्सयमयी महिला रूबी से होती है। कहानी के साथ एजेंट  विनोद  कराची, दिल्ली से होकर लंदन पहुंचता है जहां से षड्यंत्र रचा जा रहा था और आखिर में क्या एजेंट विनोद किस प्रकार से षडयंत्र को तोड़ पता है क़ी नहीं इसके लिए आपको फिल्म देखनी पड़ेगी .